SmsCruz.Com
Festival SMS [2690]
Language SMS [4045]
Season SMS [518]
Story SMS [528]
Jokes SMS [14084]
Greeting SMS [3671]
Shayari SMS [7258]
Ascii SMS [24]
Exam SMS [118]
Facebook SMS [159]
Other SMS [154]
Special SMS [3118]
शादी की गांठे तो आसमान में ही बंध जाती हैं
इन्सान तो सिर्फ पेटीकोट,
सलवार और ब्रा की गांठे खोलने के लिए ही
ज़मीन पर भेजा जाता है.
Terms | Disclaimer | Contact
© 2014-2016 SmsCruz.Com